अंग्रेजी बोलना कैसे सीखें कुछ बेहतरीन टिप्स

दोस्तों मेरी पिछली दो पोस्टों में आपने अंग्रेजी बोलना सीखने के क्यों, क्या और कैसे को जाना। अब मैं आपको अंग्रेजी बोलने के कुछ बेहतरीन टिप्स (मेरी समझ से) दूंगा। इन टिप्स के प्रयोग से न सिर्फ आपका अंग्रेजी बोलना सीखने का प्रयास आसान हो जायेगा बल्कि आप अंग्रेजी बोलना जल्दी सीख भी पाएंगे।

अगर आपने मेरी पिछली दो posts नहीं पढ़ी हैं तो उन्हें नीचे दिए लिंक पर क्लिक कर के पढ़ सकते हैं

English बोलना कैसे सीखें भाग १(क्यों? और क्या?)

English बोलना कैसे सीखें भाग २(कैसे?)

  1. अंग्रेजी बोलने के लिए जब आप अपने शब्द भण्डार (Vocabulary) को बढ़ाने की कोशिश कर रहे हों तो जो शब्द प्रचलन में ज्यादा हैं उनको पहले सीखने की कोशिश करें न कि कम इस्तेमाल होने वाले और कठिन शब्दों को।

    देखिये अधिक इस्तेमाल होने वाले और सरल शब्दों को आप आसानी से सीख सकते हैं और बार-बार इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे आपको इन शब्दों का ज्ञान बहुत जल्दी हो जाता है।

    दूसरी ओर कठिन और कम इस्तेमाल होने वाले शब्दों का बोलचाल में एक तो प्रयोग करना आपके लिए मुश्किल होगा और दूसरा इनका इस्तेमाल करने के मौके आपको कम मिलेंगे। इससे आप इनको जल्दी नहीं सीख पायेंगे और आपकी मेहनत बेकार जायेगी।

    मैं यहाँ पर सामान्य अंग्रेजी बोलचाल की बात कर रहा हूँ, किसी स्पेशलाइज्ड क्षेत्र जैसे साइंस, इंजीनियरिंग, क़ानून या मेडिकल की नहीं। मेरा मतलब है कि अगर आप मानसिक रोगों की चिकित्सा से जुड़े हैं तो आपको schizophrenia शब्द सिखना ही होगा चाहे यह कितना ही कठिन क्यों न हो।

    हाँ एक बात जरूर है की किसी फील्ड से जुड़े शब्द कठिन भले ही हों पर उस फील्ड के लोगों के बीच उन शब्दों का इस्तेमाल अधिक होता है इससे आप इन्हें जल्दी सीख सकते हैं।

  2. मैं पहले ही बता चुका हूँ कि अंग्रेजी बोलना सीखने के लिए आपको शुरू से ही अंग्रेजी में बात करना शुरू करना होगा। अब कई बार ऐसा हो सकता है कि आप किसी से बात कर रहे हों और आप कुछ कहना चाहते हो पर आपको अंग्रेजी में वाक्य बनाने में या सही शब्द याद करने में समय लग रहा है।

    ऐसे में यदि आप काफी समय तक चुप रहते हैं तो सामने वाला ये सोच सकता है कि आप उससे बात नहीं करना चाहते या आपसे जो पुछा जा रहा है वो आपको मालूम नहीं। ऐसे में या तो वो किसी और से बात करने लगेगा या कुछ और पूछने लगेगा।

    ऐसी स्थिति में जब आप कुछ सोच रहे हैं तो सामने वाले को भी बताएं कि आप कुछ सोच रहे हैं। इसके लिए आप कुछ ध्वनियों का प्रयोग कर सकते हैं जैसे ऊँऽऽऽऽऽ, अऽऽऽऽऽऽ, हूँऽऽऽऽऽऽऽ आदि। इन्हें hesitation devices कहते हैं। इस प्रकार आप आप hesitation devices का प्रयोग कर टाइम buy कर सकते हैं और अपना वाक्य तैयार कर के बोल सकते हैं।

  3. कई बार कोई शब्द एकदम याद ही न आने पर आप आपनी बात को अन्य शब्दों द्वारा describe कर के भी बोल सकते हैं। यहाँ तक की आप अपने सामने वाले से भी शब्द पूछ सकते हैं। इसके लिए आप कहें What was the word for और फिर उस चीज को अन्य शब्दों या इशारों में समझाएं। ऐसा पूछने पर अगर सामने वाले को आपकी बात समझ में आ गयी तो वो खुद आपको सही शब्द बता देगा।

  4. अगर आपको अच्छी अंग्रेजी नहीं आती तो बहुत तेज बोलने की कोशिश न करें बल्कि रुक-रुक कर आराम से बात करें। देखिये आप कोई न्यूज़ एंकर तो हैं नहीं कि आपको फ़टाफ़ट 10 मिनट में 100 खबरें सुनानी हैं। So Relax!

    आराम से रुक-रुक कर बोलने का एक फायदा ये भी होता है कि इससे सामने वाले को अंदाजा हो जाता है कि आप आराम से बोलेंगे इसलिए वो आपके बोलने का इंतज़ार करता है। वहीँ अगर आप कुछ बातें बहुत जल्दी से बोल देते हैं और कुछ बातों में समय लगाते हैं तो देर लगने पर सामने वाला समझता है कि आप कुछ बोलना नहीं चाहते। इसलिए consistent रहने का प्रयास करें।

  5. अंग्रेजी में बात करते समय बोल-चाल की भाषा का प्रयोग करें। अंग्रेजी में बात करने के कम मौके मिलने पर जब आप अंग्रेजी पढ़कर और न्यूज़ आदि सुनकर बात करना शुरू करतें हैं तो आप bookish लैंग्वेज बोलते हैं। जो सामान्य बोलचाल में अटपटा लग सकता है।

    मैंने जब अंग्रेजी बोलना शुरू किया तो जैसे ही मैं कुछ बोलता था लोगों को shock लगता था और वो हँसने लगते थे। आप सोच रहे होंगे कि मैं कुछ गलत बोल देता था या मेरी बात सामने वाले को समझ में नहीं आती थी पर ऐसा नहीं था। ऐसा होने के दो कारण थे पहला तो मेरे उच्चारण में मेरी मातृभाषा का असर होता था और दूसरा मैं किताबी भाषा का प्रयोग करता था जिसमें वाक्य लम्बे और शब्द कठिन होते थे। अब आप ही सोचिये एक तो कठिन शब्द और उसपर उच्चारण अजीब ऐसे में किसे हँसी नहीं आयेगी।

  6. अंग्रेजी बोलने के लिए आप अंग्रेजी में ही सोचिये। अंग्रेजी बोलते समय अंग्रेजी में ही सोचने के कई फायदे हैं।

    इससे अपनी भाषा में सोचकर उसे अंग्रेजी में ट्रांसलेट करने का समय बाच जाता है।

    हर भाषा का अपना एक structure होता है और हर भाषा के अपने शब्द होते हैं जिनके तुल्य शब्द दूसरी भाषा में भले ही मिल जायें पर ये जरूरी नहीं की इन शब्दों का प्रयोग उतना ही सामान्य बोलचाल में भी होता हो।

    जैसे मैंने अपनी पोस्ट सीरीज का टाइटल “अंग्रेजी बोलना कैसे सीखें” रखा है अब मैं इसको अंग्रेजी में ट्रांसलेट करता हूँ तो इसका टाइटल होगा “How To Learn To Speak English” लेकिन अगर मैं यह टाइटल अंग्रेजी में ही सोचता तो मैं इसका टाइटल “How To Learn Spoken English” रखता।

  7. अपनी social और नेटवर्किंग स्किल्स का प्रयोग करें अधिक से अधिक ऐसे groups और लोगों से जुड़ें जिनसे आप अंग्रेजी में बात कर सकें। ये लोग अंग्रेजी में बात करने वाले या आप की ही तरह से अंग्रेजी बोलना सीखने के इच्छुक हो सकते हैं।

  8. अंग्रेजी सीखने के कोर्स join करें। लेकिन ध्यान रहे ऐसे कोर्सेज को ही चुने जिनमें अंग्रेजी बोलने पर जोर हो और अंग्रेजी बोलने की प्रैक्टिस कराई जाती हो। वरना अंग्रेजी grammar आदि सीखते-सीखते और ग्रुप डिस्कशन की एक दो class में ही दो-तीन महीने निकल जायेंगे और कोर्स समाप्त होने पर भी आप की अंग्रेजी बोलने की क्षमता में कुछ ज्यादा इम्प्रूवमेंट नहीं हो पायेगा।

  9. अंग्रेजी से रिलेटेड काम या एक्टिविटी join करें। ऐसे काम करें जहाँ आपको अंग्रेजी सीखने या अंग्रेजी में बात करने के मौके मिल सकें। और अगर आपको ऐसा काम मिल सके जहाँ पर You can earn while you learn English फिर तो सोने पे सुहागा हो जायेगा। जैसे इंग्लिश कॉल सेंटर join करना।

दोस्तों अंग्रेजी बोलना कैसे सीखें इस विषय पर मेरी यह तीन posts की सीरीज इन टिप्स के साथ ही समाप्त होती है। मेरी आशा है कि इन articles से आपको अंग्रेजी सीखने में जरूर मदद मिलेगी। इसलिए अगर आप अंग्रेजी बोलना चाहते हैं तो न सिर्फ इन articles को पढ़ें बल्कि इनपर अमल भी करें। आप अपनी progress कमेंट या ईमेल के द्वारा हमें बता सकते हैं। हमारा ईमेल पता है safalbharat.com@gmail.com ।


यदि आप हमारी प्रत्येक नयी पोस्ट की जानकारी अपने ईमेल पर चाहते हैं तो हमारा ईमेल सब्सक्रिप्शन लें।

नयी पोस्ट ईमेल में प्राप्त करने के लिए

 

Delivered by FeedBurner

मित्रों यह पोस्ट अगर आपको पसंद आई हो तो इसे लाइक और शेयर जरूर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *