अपनी सफलता के लिए SWOT एनालिसिस कैसे करें

मित्रों कोई भी काम, नौकरी, प्रोजेक्ट या बिज़नेस करने के पहले हमारे सामने दुविधा होती है कि मुझे ये काम करना चाहिए या नहीं? क्या इसमें मुझे सफलता प्राप्त होगी या नहीं? किसी बिज़नस या प्रोजेक्ट में हम कितने पानी में हैं? इस प्रकार की समस्याओं के रणनीतिक (strategic) समाधान के लिए SWOT एनालिसिस किया जाता है।

इस पोस्ट में हम जानेंगे की SWOT एनालिसिस क्यों किया जाता है? SWOT एनालिसिस क्या होता है? और एक उदाहरण के साथ हम जानेंगे कि SWOT एनालिसिस कैसे किया जाता है? और SWOT एनालिसिस करते समय हमे क्या सावधानियां बरतनी चाहिए?

SWOT एनालिसिस क्यों किया जाता है? Why SWOT Analysis Is Done?

दरअसल किसी भी काम को करने के पश्चात् यदि वांछित सफलता नहीं मिलती तो हमारी मेहनत, रिसोर्स और समय बर्बाद हो जाता है।

इसलिए किसी भी काम को करने के पहले हमारी उसमें सफलता या विफलता की क्या संभावनाएं हैं, जान लेना काफी फायदेमंद होता है।

किसी भी कार्य में सफलता प्राप्त करने के लिए उस कार्य के बारे में हमारी जितनी अधिक जानकारी होगी या जितना अधिक अनुभव होगा उतना ही सही तरीके से हम उस कार्य की सफलता या विफलता का अंदाजा लगा सकते हैं।

इस प्रकार किसी कंपनी या व्यक्ति के किसी प्रोजेक्ट या कार्य में सफलता का अनुमान लगाने के लिए एक तकनिकी इस्तेमाल होती है जिसे हम स्वाॅट(SWOT) एनालिसिस कहते है।

SWOT अंग्रेजी के चार शब्दों के प्रथमाक्षरों (initial letters) से मिल कर बना है। ये शब्द हैं

Strength(शक्ति)
Weakness(कमजोरी)
Opportunities(मौके)
Threats(खतरे)

SWOT Analysis के द्वारा हम किसी भी कार्य के लिए हमारी strengths और weaknesses क्या है। तथा हमारे सामने क्या opportunities तथा क्या threats (खतरे) हो सकते हैं इन सबका एनालिसिस करते हैं।

इस प्रकार स्वाॅट एनालिसिस के द्वारा हम जान सकते हैं की किसी कार्य या बिज़नस के सफल होने की संभावनाएं हैं। और इसके लिए हमें क्या स्ट्रेटेजीज अपनानी होंगी।

अब आप जान गए कि स्वाॅट एनालिसिस के क्या फायदे हैं तो आइये अब जानते हैं कि स्वाॅट एनालिसिस किया कैसे जाता है?

स्वाॅट एनालिसिस किया कैसे जाता है? How SWOT Analysis Is Done?

स्वाॅट एनालिसिस करने के लिए सबसे पहले हमारे पास कोई प्रोजेक्ट, बिज़नस या बिज़नस आईडिया या कोई कार्य होना चाहिए जो आप या आपकी कंपनी करती है या शुरू करना चाहती है।

अब इस कार्य को सफलता पूर्वक पूरा करने के लये दो निकाय हैं एक है आप आपकी टीम या कंपनी जिसकी strength या weakness आपको जानना है और दूसरा है आपका वातावरण (environment) यानि आपका देश, प्रान्त, शहर, नियम-कानून, आपके competitors अदि जिनके द्वारा आपको मौके या खतरे हो सकते हैं।

जब आप स्वाॅट एनालिसिस करें तो आपको अपने आप को पहचानना आना चाहिए या आप अपने किसी परिचित मित्रों का भी सहयोग ले सकते हैं जो आपको आपको और आपकी कमजोरियों और ताकतों को शायद आपसे भी अच्छी तरह जानते हों। इसी प्रकार अपने वातावरण द्वारा उपलब्ध मौके और खतरे जानने के लिए आप एक्सपर्ट्स की सलाह भी ले सकते हैं।

अब आप अपने उद्देश्य के हिसाब से अपनी शक्तियों, कमजोरियों, मौकों और खतरों को लिख लीजिये। इसको आप निम्न टेबल से भी समझ सकते हैं।

उद्देश्य प्राप्ति में

मददगार

उद्देश्य प्राप्ति में

नुकसानदायक

आंतरिक उत्पत्ति

आपके गुण

S

शक्ति

W

कमजोरी

वाह्य उत्पत्ति

वातावरण के गुण

O

मौके

T

खतरे

स्वाॅट एनालिसिस का एक उदहारण Example Of SWOT Analysis

मित्रों ग्रामीण क्षेत्र के मार्केट में कपड़ों की एक पुरानी दुकान है जो काफी चलती है जिसे मनोज नाम का दुकानदार चलता है। पर पिछले एक साल में वहाँ पर कपड़ों की दो नयी दुकानें खुल गयी हैं। शुरू में मनोज ने सोचा कि ये नयी दुकाने ज्यादा नहीं चलेंगी पर हाल ही में उन्हें पता चला है की नए दुकानदार भी लगभग उनके जितना ही प्रॉफिट कमा रहे हैं।

अब ऐसी परिस्थितियों में मनोज के लिए ये जानना जरूरी हो जाता है कि इन नयी दुकानों से उनके बिज़नस पर क्या असर होगा? और वे ऐसा क्या कर सकता हैं जो उनकी कमाई को कम होने से बचा सके।

इसके लिए मनोज ने SWOT एनालिसिस किया और अपनी शक्ति, कमजोरी, मौके और खतरों को इस प्रकार लिखा

शक्तियां(Strengths)-

1. हम पुराने हैं इसलिए हमारी ग्राहकी बंधी हुयी है और आस-पास के सभी गाँवों से लोग हमारे यहाँ आते हैं।

2. हमरा व्यवहार सही है और हमारे यहाँ आने वाले लोगों को हम जानते पहचानते हैं इसलिए वे हमारे यहाँ से ही कपड़े खरीदते हैं।

3. हम अन्य लोगों की तुलना में कपड़े सस्ते में बेचते हैं, क्योंकि हम कई शहरों से माल मंगाते हैं।

4. हम कपड़े उधार में भी देते हैं, इसलिए हमारे यहाँ से बहुर दूर-दूर के लोग फाइनेंसियल स्ट्रेस के समय जैसे शादी आदि में कपड़े ले जाते हैं।

कमजोरीयां(Weaknesses)-

1. सस्ते कपड़े बेचने की वजह से हमारे यहाँ लोग सस्ते कपड़े ही ज्यादा खरीदते हैं जिसमें हमें कम मार्जिन मिलता है। और अधिक मार्जिन वाले महंगे कपड़े हमारे यहाँ से कम बिकते हैं।

2. उधर देने की वजह से हर साल लगभग 1 से 2 लाख रुपयों की रिकवरी नहीं हो पाती और हमारा प्रॉफिट काम होता है।

3. उधार न चुकाने वाले लोग हम उधार वापस न मांग लें इस डर से अक्सर हमरी दुकान पर आना बंद कर देते हैं, जिससे बिक्री में कमी आती है।

मौके(Opportunities)-

1. आस पास के दुकानदार कपड़े हमारे यहाँ से महंगे बेचते हैं। इसलिए हम भी अपने यहाँ प्राइस बढ़ाकर अपना प्रॉफिट बढ़ा सकते हैं।

खतरे(Threats)-

1. हमारे ही मार्केट में दो नयी दुकानें खुल गयीं हैं, जिन्होंने सीसे के दरवाजे लगाये हैं और उनके दुकान के सामने कपड़ों का डिस्प्ले अच्छा लगता है जिससे लोग खासकर ज्यादा पैसे खर्च करने वाले और शहरों में कमाने वाले उन दुकानों की ओर आकर्षित होते हैं।

2. नयी दुकानों में AC लगा है जिससे गर्मियों में जो ग्राहक उनके यहाँ बैठ जाता है महंगा ही सही वहाँ से ही कपड़े ले लेता है।

इस प्रकार दोस्तों अपनी दुकान के स्वाॅट एनालिसिस से मनोज को अपनी स्थिति का सही सही अंदाजा हो गया। और अब वो अपना लाभ बढ़ाने के लिए कई निर्णय ले सकता है जैसे सीसे और AC लगवाना, कीमतें बढ़ाना, उधार बंद करना आदि।

स्वाॅट एनालिसिस करते समय सावधानियाँ Precautions During SWOT Analysis

मित्रों स्वाॅट एनालिसिस एक टूल है और किसी भी अन्य टूल की ही तरह इसका इस्तेमाल और उपयोगिता भी इस टूल का प्रयोग करने वाले की दक्षता पर निर्भर करता है। हर एक टूल की कुछ सीमायें होती हैं और इअसका इस्तेमाल करने वालों को इन सीमाओं का ज्ञान होना आवश्यक होता है।

स्वाॅट एनालिसिस कोई मैजिक बुलेट नहीं है कि इसका इस्तेमाल करते ही आपके बिज़नस या कार्य की सारी समस्याएं दूर हो जाएँगी। लेकिन ये आपको सोचने को मजबूर करता है और आपको निर्णय लेने में सहायता करता हैं।

SWOT Analysis के कुछ limitations मैं आपको बताता हूँ

1. स्वाॅट एनालिसिस में आपकी strengths, weaknesses और आपके environment द्वारा उत्पन्न opportunities और threats की जानकारी आपको स्वयं जुटानी पड़ती है, जो आपके नॉलेज और experience पर निर्भर करता है। इसमें कुछ चीजें काफी मुश्किल हो सकती हैं जैसे अपने competitors की जानकारी।

2. इसमें कई बार लोग सिर्फ लिखने के लिए बहुत से पॉइंट लिख देते हैं जिनकी संभावना या impact अधिक नहीं होता। इसलिए इन पॉइंट्स को लिखने के बाद इनको इनके महत्व के आधार पर sort कर लेना चाहिए।

निष्कर्ष Conclusion

इस प्रकार आपने SWOT एनालिसिस के बारे में जाना। अब अगर आपके पास भी कोई काम, बिज़नस, नौकरी या प्रोजेक्ट है तो तुरंत कीजिये SWOT एनालिसिस और अपनी सफलता की संभावनाओं को सुनिश्चित कीजिये। एक बात और कोई भी नयी चीज सीखकर उसका प्रयोग करने की दक्षता आने में प्रैक्टिस और समय लगता है। इसलिए आप SWOT एनालिसिस अभी से शुरू कर दीजिये ताकि आप इसमें जल्द से जल्द एक्सपर्ट बन जायें और कौन कितने पानी में है ये जान सकें।

दोस्तों SWOT एनालिसिस पर मेरी यह post कैसी लगी? कमेंट या ईमेल के द्वारा हमें बता सकते हैं। हमारा ईमेल पता है safalbharat.com@gmail.com ।


 

अगली post का इन्तजार कीजिये और बार-बार SafalBharat.Com ब्लॉग को देखते रहें। या फिर आप हमारा इमेल सब्सक्रिप्शन भी ले सकते हैं जिससे हमारी प्रत्येक नयी पोस्ट की जानकारी आपको अपने ईमेल पर अपने आप मिलाती रहे।

नयी पोस्ट ईमेल में प्राप्त करने के लिए

Delivered by FeedBurner

याद रखें यहाँ क्लिक करने के बाद एक पॉपअप खुलेगा, जिसमें सिक्यूरिटी कोड डालकर सब्सक्राइब करने के बाद Google FeedBurner आपको एक ईमेल भेजेगा जिसमे दिए link को क्लिक करने से आपका सब्सक्रिप्शन पूरा होगा। इसलिए यहाँ सब्सक्राइब करने के बाद अपना ईमेल चेक करें और google द्वारा भेजे ईमेल में दिए link को क्लिक कर अपना सब्सक्रिप्शन पूरा करें। कई लोग ये स्टेप भूल जाते हैं और जिससे उन्हें नयी पोस्ट की जानकारी नहीं मिलती।

One Comment

  1. Very nice and impressive article….SWOT analysis mujhe bahut accha laga….thanks for share this…….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *